उत्तर प्रदेशताजातरीनराष्ट्रीय

दो शिक्षिकाएं हुईं टर्मिनेट, ट्रान्सफर रुकवाने के लिए 20 छात्रों को बनाया था बंधक

लखीमपुर खीरी (द सर्जिकल न्यूज़ डेस्क): उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में 20 छात्रों को बंधक बनाने के मामले में कस्तूरबा गाँधी विद्यालय की दो शिक्षिकाओं की सेवा समाप्त (Terminate) कर दिया गया है.

शिक्षिकाओं (female teachers) का नाम क्रमशः गोल्डी कटियार और मनोरमा मिश्रा बताया गया है. बंधक बनाने के मामले में चार सदस्यों की कमेटी ने जाँच (Inquiry) किया और जाँच में गोल्डी कटियार व मनोरमा मिश्रा को दोषी पाया. जिसके बाद बीएसए डा. लक्ष्मीकांत पांडेय की संस्तुति के बाद डीएम महेंद्र बहादुर सिंह (DM Mahendra Bahadur Singh) ने कार्रवाई की है.

बता दें कि बीते 21 अप्रैल की रात बेहजम के कस्तूरबा गांधी विद्यालय (Kasturba Gandhi School) में स्थानांतरण होने के बाद शिक्षिकाओं ने 20 छात्राओं को छत पर दरवाजे की कुंडी लगाकर बंधक बना लिया था.

छात्राओं के रोने की आवाज सुनकर विद्यालय की वार्डन ललित कुमारी ने जब छात्राओं के रोने की आवाज सूनी और छत पर जाकर देखा तो छात्राएं बंद थी जिसके बाद वार्डन ललित कुमारी ने इस सम्बन्ध में बीएसए को सूचित किया.

फिर पुलिस मौके पर पहुंची और बीएसए ने बच्चियों को मुक्त कराया था. इस मामले में जिला समन्वयक रेनू श्रीवास्तव ने नीमगांव थाने में तहरीर दी जिसके बाद कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था. मामला सामने आने के बाद जांच के लिए बीएसए द्वारा गठित कमेटी ने विद्यालय की बंधक बनाई गई 20 बच्चियों, रसोइया और स्टाफ का बयान दर्ज किया गया.

फिर दोनों शिक्षिकाओं के भी बयान दर्ज किए गए हैं. शिक्षिकाओं और बच्चियों के बयान में काफी अंतर मिलने पर कमेटी ने स्पष्ट तौर पर दोनों शिक्षिकाओं को इस पूरे मामले में दोषी माना. रिपोर्ट में कहा है कि शिक्षिकाओं ने ही छात्राओं को शोरगुल व रोकर विरोध जताने के लिए उकसाया था.

यह सब स्थानांतरण रुकवाने के लिए शिक्षिकाओं ने छात्राओं को ढाल बनाया था. कमेटी की यह जांच रिपोर्ट बीएसए ने एक दिन पहले ही डीएम को सौंपी थी, जिसमें दोनों शिक्षिकाओं की सेवा समाप्ति की संस्तुति की गई थी. उधर, जिला प्रशासन की कड़ी कार्रवाई के बाद शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है.

हमारी खबरें पढ़ने के लिए शुक्रिया. फेसबूक, यूट्यूब पर लाइक और सब्सक्राइब करें. अपनी खबरें भेजने के लिए क्लिक करें और लगातार ख़बरों से अपडेट रहने के लिए प्ले स्टोर से हमारा एप्प जरूर इनस्टॉल करें.

द सर्जिकल न्यूज़

ख़बरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें ईमेल thesurgicalnews@gmail.com

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: