उत्तर प्रदेशताजातरीनराजनीति

ऐसी लड़कियां बाजरे के खेत में मृत पाई जाती हैं, बीजेपी नेता का बयान

न्यूज़ डेस्क: उत्तर प्रदेश के बाराबंकी के एक भाजपा नेता ने दावा किया कि यूपी के हाथरस में 19 साल की दलित महिला के साथ बर्बरतापूर्वक गैंगरेप करने और उसकी हत्या करने के आरोपी चार उच्च जाति के लोग “निर्दोष” हैं और पीड़िता “आवारा” (स्वच्छंद) थी।  विवादास्पद भाजपा नेता रणजीत बहादुर श्रीवास्तव, जिनके खिलाफ 44 से अधिक आपराधिक मामले हैं, ने हाथरस मामले के बारे में चौंकाने वाला और शर्मनाक बयान दिया।

पीड़िता के चरित्र पर सवाल उठाते हुए, बीजेपी के नेता ने दावा किया कि 19 वर्षीय महिला “आरोपी के साथ संबंध रखती थी” और उसे 14 सितंबर (अपराध के दिन) को बाजरा के खेत में बुलाया था। सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में रणजीत बहादुर को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि, “पीड़िता ने लड़के को खेत में बुलाया होगा, क्योंकि उनका अफेयर चल रहा था। यह खबर सोशल मीडिया और न्यूज़ चैनलों पर पहले से ही। लड़की पकड़ी गई होगी।”

हालांकि, बीजेपी नेता यहीं नहीं रुके, उन्होंने दावा किया कि “ऐसी महिलाएं” कुछ विशिष्ट स्थानों में मृत पाई जाती हैं। रणजीत बहादुर का कहना था कि, “ऐसी लड़कियों को कुछ स्थानों पर मृत पाया जाता है। वे गन्ने, मकई और बाजरा के खेतों में या झाड़ियों, गटर या जंगलों में मृत पाई जाती हैं। वे कभी भी धान या गेहूं के खेतों में मृत नहीं पाई जाती हैं?” श्रीवास्तव का तात्पर्य है की हाथरस गैंगरेप ऑनर किलिंग का मामला है। तब बीजेपी नेता ने यह दावा किया कि कोई भी इस तरह के अपराध को होते हुए नहीं देखता और साथ ही ना कोई उस वक्त देखता है, जब पीड़िता को अपराध स्थल से दूर ले जाया जा रहा हो।

बाद में, श्रीवास्तव ने चारों आरोपी का बचाव करते हुए कहा कि उन्हें जेल से तब तक रिहा किया जाना चाहिए, जब तक कि मामले में सीबीआई आरोप पत्र दाखिल नहीं कर देती। “मैं गारंटी के साथ कह सकता हूं कि ये लड़के निर्दोष हैं। अगर उन्हें समय पर रिहा नहीं किया गया, तो वे मानसिक उत्पीड़न का सामना करेंगे। उनकी खोई हुई जवानी को कौन लौटाएगा? क्या सरकार उन्हें मुआवजा देगी?”

श्रीवास्तव की टिप्पणी को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग की प्रमुख रेखा शर्मा ने कहा, “वह किसी भी पार्टी के नेता कहलाने के लायक नहीं हैं। वह अपनी आदिम और बीमार मानसिकता दिखा रहे हैं और मैं उन्हें नोटिस भेजने जा रही हूं।”

हमारी खबरें पढ़ने के लिए शुक्रिया. फेसबूक, यूट्यूब पर लाइक और सब्सक्राइब करें. अपनी खबरें भेजने के लिए क्लिक करें और लगातार ख़बरों से अपडेट रहने के लिए प्ले स्टोर से हमारा एप्प जरूर इनस्टॉल करें.

द सर्जिकल न्यूज़

ख़बरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें ईमेल thesurgicalnews@gmail.com

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: