उत्तर प्रदेशगाजीपुरमरदह विकासखंड

खेत खाए गदहा, मार खाए जोलहा

मरदह/गाजीपुर: 2016 के एक मामले में राज्य सूचना आओग ने सूचना न देने के मामले में मरदह ब्लॉक के जन सूचना अधिकारी को प्राथमिक विद्यालय में मौजूद सभी बच्चों या 250 बच्चों को भोजन कराने का जुर्माना लगाया है. और इस सबकी एक विडियो बना क्योंकि इसका विडियो भी आयोग को भेजना था.

मामला मरदह क्षेत्र के नोनरा ग्राम सभा का है, जिसमें राज्य सूचना आयोग ने स्थानीय कोटेदार भूपेंद्र कुमार पांडेय की आरटीआई अर्जी पर सुनवाई करते हुए ये मानते हुए आदेश किया है कि वर्तमान जन सूचना अधिकारी चंद्रिका प्रसाद ग्राम्य विकास अधिकारी / सेक्रेटरी ने जानकारी देने में जान बूझकर देर नहीं की है. यह देरी अपरिहार्य कारणों से हुई है इसलिए उन्हें कम्पोजिट परिषदीय विद्यालय नोनरा के दो सौ पचास बच्चों को मिड डे मील में भोजन करा कर वीडियो रिकॉर्डिंग कर आयोग को भेजा जाए।

इस मामले मे जन सूचना अधिकारी चंद्रिका प्रसाद ने बताया कि 2016 में नोनरा ग्राम सभा के भूपेंद्र कुमार पांडेय जो स्थानीय कोटेदार भी हैं उन्होंने ग्राम विकास में सरकारी धन के सापेक्ष कार्यों के संदर्भ में 8 बिंदु की सूचना नियमानुसार मांगी थी.

तत्कालीन ग्राम विकास अधिकारी / जन सूचना अधिकारी ने किन्ही कारण वश उपलब्ध नहीं करायी और यह मामला चलता रहा. उनके ट्रांसफर के बाद मैं जनवरी 2021 में जब आया तो कुछ महीने बाद मुझे भी इस मामले की जानकारी हुई, तो हमने 8 बिंदुवार सूचनाएं दे दी.

जिसमें विगत 25 अप्रैल को राज्य सूचना आयुक्त,लखनऊ महोदय के यहां हम और सूचना मांगने वाले भूपेंद्र कुमार पांडेय उपस्थित हुए तो आयुक्त महोदय ने सूचना देने देरी होने के कारण नोनरा कम्पोजिट परिषदीय विद्यालय के सभी छात्रों को भोजन करवाने का निर्देश दिया है जिसका अनुपालन आज हम राजी खुशी कर रहे हैं।

वहीं सूचना मांगने वाले भूपेंद्र कुमार पांडेय का कहना है कि उन्होंने जिनसे सूचना मांगी थी वो अधिकारी 5 साल दौड़ाते रहे. मैने इसकी शिकायत आयोग में की. जनवरी 2021 में जब दूसरे अधिकारी आए तो इन्होंने सूचनाएं दी,और इन्ही को जुर्माना भी लगा.

जिसने लापरवाही की उसको कोई दंड या जुर्माना नहीं लगा क्योंकि उनका दूसरे विकास खण्ड में ट्रांसफर हो गया।जबकि ये जुर्माना उन पर लगना चाहिए था।फिलहाल नोनरा प्राथमिक विद्यालय व उच्च प्राथमिक विद्यालय के बच्चों को शुक्रवार को जन सूचनाधिकारी की तरफ से भोजन करा कर वीडियो रिकार्डिंग भी कराई गई,जो राज्य सूचना आयुक्त को भेजी जाएगी।

इस कार्य की क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चाएं चल रही है। लोग आपस में बात करते सुने गये की करे कोई और-भरे कोई और,असली दोषी पर कारवाई नहीं होना न्याय संगत नहीं है।

इस मौके पर प्रधानाध्यापक अजय विक्रम सिंह,रामदरश राम,अरविन्द कुमार सिंह, गरिमा सिंह, पुष्पा यादव,एकता यादव,श्ववेता सिंह,सोनू सिंह,प्रधान पति मुन्ना चौहान,बब्बन सिंह,समिन्द्र राम, शीला देवी आदि लोग मौजूद रहे।

हमारी खबरें पढ़ने के लिए शुक्रिया. फेसबूक, यूट्यूब पर लाइक और सब्सक्राइब करें. अपनी खबरें भेजने के लिए क्लिक करें और लगातार ख़बरों से अपडेट रहने के लिए प्ले स्टोर से हमारा एप्प जरूर इनस्टॉल करें.

द सर्जिकल न्यूज़

ख़बरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें ईमेल thesurgicalnews@gmail.com

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: