Qries
उत्तर प्रदेशताजातरीनपूर्वांचलराजनीति

डॉ अयूब गिरफ्तार, मायावती बोलीं- अयूब मांगे माफी

लखनऊ: पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व विधायक डॉ. अयूब को धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में गोरखपुर के बड़हलगंज स्थित आवास से गिरफ्तार किया गया है. पुलिस की टीम देर रात उन्हें गोरखपुर से लखनऊ लेकर पहुंची. जहां से आज उन्हें जेल भेज दिया जाएगा.

उन पर संविधान विरोधी पोस्टर छापने का आरोप लगा है. लखनऊ के हजरतगंज थाने में पीस पार्टी के अध्यक्ष के खिलाफ शुक्रवार को धार्मिक भावना भड़काने, सेवन सीएलए और आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ था.

संविधान विरोधी पोस्टर छापने पर बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने डॉक्टर अयूब से माफी मांगने की मांग की है. मायावती ने शनिवार को ट्वीट करके कहा, ‘दलित-मुस्लिम एकता का राग अलापने वाले पीस पार्टी के मुखिया डा. अय्यूब द्वारा उर्दू अख़बार के विज्ञापन में बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के बारे में जो बात कही गई है, वह अति-शर्मनाक, दुर्भाग्यपूर्ण व अति-निंदनीय, जिसके लिए इनको माफी मांगनी चाहिए.’

दलित-मुस्लिम एकता का राग अलापने वाले पीस पार्टी के मुखिया डा. अय्यूब द्वारा उर्दू अख़बार के विज्ञापन में बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के बारे में जो बात कही गई है, वह अति-शर्मनाक, दुर्भाग्यपूर्ण व अति-निन्दनीय, जिसके लिए इनको माफी माँगनी चाहिए।

— Mayawati (@Mayawati) August 1, 2020

 

क्या है मामला?

दरअसल, लखनऊ के उर्दू अखबारों में विज्ञापन छपवाए गए थे. आरोप है कि पीस पार्टी के अध्यक्ष की ओर से इन पोस्टरों को छपवाया गया था. जिनमें संविधान विरोधी और मौलानाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी की गई. सोशल मीडिया पर विज्ञापन वायरल होने के बाद अधिकारियों के निर्देश पर हजरतगंज थाने में डॉ. अयूब के खिलाफ धार्मिक भावना भड़काने की कोशिश करने, सेवन सीएलए और 66 आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया.

जिसके बाद लखनऊ पुलिस ने पीस पार्टी के अध्यक्ष की गिरफ्तारी के लिए गोरखपुर में छापेमारी की. यहां बड़हलगंज स्थित उनके आवास से डॉक्टर अयूब को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ के बाद उन्हें लखनऊ लाया गया है. फिलहाल पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है

 

द सर्जिकल न्यूज़ डेस्क

ख़बरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें- thesurgicalnews@gmail.com
Back to top button

Copyright || The Surgical News

%d bloggers like this: