पूर्वांचल

मुसहर समुदाय के बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए बाल पंचायत के बच्चो की सरकार से मांग

मुसहर समुदाय के बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए बाल पंचायत के बच्चो की सरकार से मांग

The surgical news
फाइल फोटो

चकिया/चंदौली: बुधवार को मानव संसाधन एवं महिला विकास संस्थान व आजाद शक्ति अभियान के नेतृत्व में मुसाहिबपुर,साधु की कुटिया वनवासी समुदाय में बनाये गये बाल मंच के बच्चों ने वनवासी समुदाय में बच्चों के शिक्षा के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जिये इसके लिए बच्चों द्वारा चकिया के खंड शिक्षा अधिकारी को मांग पत्र सौंपा गया । बाल पंचायत के बच्चों द्वारा बताया गया कि हम सब बाल पंचायत (बच्चों के हित में बच्चों द्वारा बनाए गए समूह) के सदस्य हैं कोरोना महामारी के कारण स्कूल बंद हो जाने के कारण और मुसहर /दलित/मुस्लिम समुदाय में शिक्षा का कोई व्यवस्था ना होने के कारण हम सब बच्चे शिक्षा से वंचित हो रहे हैं ।हम मुसहर /दलित समुदाय के बच्चे के पास शिक्षा का एकमात्र सहारा सरकारी विद्यालय है परंतु इस समय विद्यालय बंद होने से हमें स्कूली शिक्षा, खेल और दोपहर का भोजन नहीं मिल पा रहा है मुसहर/दलित समुदाय के बच्चों के पास मोबाइल फोन व कोई तकनीकी संरचनात्मक उपयोग की उपलब्धता न होने के कारण हम ऑनलाइन शिक्षा नहीं प्राप्त कर सकते हैं हमने विद्यालय से किताबें तो प्राप्त की है परंतु उन किताबों में क्या लिखा है उसे समझाने वाला कोई नहीं है अत: अन्य बच्चों की तरह मुसहर/ दलित समुदाय के बच्चों की भी शिक्षा वंचित ना हो बता दे कि बाल पंचायत के बच्चों की सरकार से मांग हैं कि-

सरकार को मुसहर समुदाय के बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था (जैसे मुसहर बस्तियों में बच्चों को दूर दूर बैठकर बैचवाइज, माइकिंग की व्यवस्था कर) शुरू करनी चाहिए, शिक्षा विभाग द्वारा हम सभी विद्यालय प्रबंधक समिति को निर्देश देना चाहिए कि स्थानीय स्तर के मुद्दे का निवारण करें , विद्यालय द्वारा बच्चों को दी जाने वाली सहायता जैसे मुफ्त राशन, किताबें, डीबीटी सही समय व प्रभावी ढंग से क्रियाशील हो इसके लिए विद्यालय को दिशा निर्देश जारी किया जाए, मुशहर/ दलित समुदाय के बच्चों को डिजिटल संरचनात्मक सहयोग उपलब्ध कराएं, सरकार द्वारा ग्राम बाल संरक्षण समिति/ पंचायत को निर्देश करना चाहिए कि माइग्रेशन रजिस्टर बनाया जाए और नाबालिग (18 वर्ष से कम उम्र का कोई बच्चा) अकेले या समूह में यात्रा ना करे ये सुनिश्चित करना चाहिए और जिम्मेदारी ग्राम प्रधान को दी जानी चाहिए इस अवसर पर बच्चे में नागेन्द्र वनबासी, जयहिंद, इरसाद, असरफ के साथ संस्था से अशोक कुमार, जितेंद्र कुमार, और मुकेश कुमार उपस्थित रहे।

हमारी खबरें पढ़ने के लिए शुक्रिया. फेसबूक, यूट्यूब पर लाइक और सब्सक्राइब करें. अपनी खबरें भेजने के लिए क्लिक करें और लगातार ख़बरों से अपडेट रहने के लिए प्ले स्टोर से हमारा एप्प जरूर इनस्टॉल करें.

द सर्जिकल न्यूज़

ख़बरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें ईमेल thesurgicalnews@gmail.com

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: