Qries
ताजातरीन

विश्व एड्स दिवस पर स्व. चन्द्रशेखर जी पूर्व प्रधानमंत्री स्नातकोत्तर महाविद्यालय में जागरूकता कार्यक्रम का किया गया आयोजन

सेवराई। स्व. चन्द्रशेखर जी पूर्व प्रधानमंत्री स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आज 01 दिसम्बर को विश्व एड्स दिवस पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं को एड्स जैसी लाइलाज बीमारी के बारे में जानकारी दी गई। इस दौरान एक प्रश्न-उत्तर प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। जिसमें विद्यार्थियों ने अपने मन में उठने वाले प्रश्नों पर जवाब तलब किए।

विश्व एड्स दिवस पर चन्द्रशेखर महाविद्यालय में गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भदौरा से आये डॉ सुनील विश्वकर्मा, फर्माशिष्ट चंद्र प्रकाश, कमलेश कनौजिया, ने विद्यार्थियों को एड्स जैसी लाइलाज बीमारे के लक्षणों, इससे बचाव व खान पान संबंधित अमह जानकारी के प्रति जागरूक किया। इसके साथ ही एड्स संबंधि प्रश्न-उत्तर कार्यक्रम के तहत मन में उठ रहे सवालों के जवाब भी डॉक्टरों द्वारा दिए गए।

डॉ सुनील ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रतिवर्ष 1 दिसम्बर को विश्व एड्स दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य एड्स रोग के बारे में जागरूकता फैलाना है। इस दिवस को पहली बार 1988 में मनाया गया था। वर्ष 2017 तक एड्स के कारण विश्व भर में 28.9 मिलियन से 41.5 मिलियन लोगों की मृत्यु हो चुकी है तथा विश्व भर में 36.7 मिलियन एड्स से पीड़ित है। विश्व एड्स दिवस की संकल्पना अगस्त, 1987 में जेम्स बन तथा थॉमस नेटर ने की थी, वे विश्व स्वास्थ्य संगठन में एड्स पर वैश्विक कार्यक्रम में जन सूचना अधिकारी के रूप में कार्यरत्त थे। इसके पश्चात 1 दिसम्बर, 1988 को पहली बार विश्व एड्स दिवस मनाया गया।

प्राचार्य ने बताया कि भारत में एड्स को रोकने और नियंत्रित करने के लिए इसे 1992 में लॉन्च किया गया था। अब तक, इस कार्यक्रम के चार चरणों को लागू किया गया है। राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन इस कार्यक्रम को लागू कर रहा है। वर्तमान में, भारत राष्ट्रीय रणनीतिक योजना (2017-24) को लागू कर रहा है जिसका उद्देश्य 2030 तक एड्स को खत्म करना है। राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन के अनुसार, 2015 में भारत में 2.11 मिलियन से अधिक लोग एचआईवी से पीड़ित थे। 2018 तक, भारत में एड्स रोगियों की तीसरी सबसे बड़ी आबादी थी।

इस अवसर पर महाविद्यालय के मुख्य लिपिक सूर्य प्रकाश बिट्टू, एनसीसी ए.एन.ओ धनंजय कुमार, डॉ हेमंत शुक्ला, अध्यापिका में श्वेता गुप्ता, नीतू उपाध्याय, आरती पासवान, एवं एनसीसी कैडेटों में अफसाना,माही,नेहा,प्रियंका, विकास,अमरजीत शामिल रहे।

Qries
Back to top button

Copyright || The Surgical News

%d bloggers like this: