ताजातरीन

समस्त जिलास्तरीय अधिकारी/कार्यालयाध्यक्षो संग डी एम ने बैठक कर100 दिनो की कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत करने का दिया निर्देश

 

गाजीपुर। मुख्य मंत्री द्वारा जनपद के प्रत्येक विभाग को अपने-अपने विभाग की प्राथमिकता निर्धारित करते हुए 100 दिन के कार्याे की कार्ययोजना तैयार कर उसका क्रियान्वयन एवं अनुपालन करने का सख्त निर्देश दिया गया है। इसी क्रम में आज दिन गुरुवार को जिला पंचायत सभागार में जिलाधिकारी एम.पी. सिंह की अध्यक्षता में समस्त जिलास्तरीय अधिकारी/कार्यालयाध्यक्षो संग बैठक कर अपने-अपने विभागो से सम्बन्धित 100 दिनो की कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत करने का निर्देश दिया तथा जिनका अभी तक कार्ययोजना तैयार नही हुआ वे अपने-अपने मुख्यालय से सम्पर्क कर कार्ययोनजा तैयार कर ले। इसमें किसी स्तर की शिथिलता क्षम्य नही होगी, क्योकि शासन स्तर इस इस सम्बंध मे कड़े निर्देश दिये गये है। क्योकि लक्ष्य निर्धारित करते हुए कार्ययोजना तैयार किया जायेगा, जिससे उस कार्ययोजना को उसके निर्धारित समयांतराल में पूर्ण किया जा सकेगा। जॉच के दौरान बनाये गये कार्ययोजना मे अभी तक कितना कार्य किया गया है तथा कितना कार्य बाकी की भलि-भॉति जानकारी प्राप्त हो जायेगी। इसके अतिरिक्त उन्होने समस्त अधिकारियो को समय से कार्यालय पहुचने का निर्देश दिया। उन्होने कहा कि आप जिम्मेदार अधिकारी है तथा अपनी-अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए अपने पदीय दायित्वो को निर्वहन करे तथा अपने अधीनस्थो को भी उनके पदीय दायित्वो का अक्षरशः पालन कराये, अपने कार्य के प्रति निष्ठा, ईमानदारी न रखने वाले कर्मचारियो के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए कत्तई न हिचके, अन्यथा शासन/मण्डल स्तर की जॉच टीमो के द्वारा पकड़े जाने पर आप स्वयं जिम्मेदार होगे। जिससे आप स्वयं के साथ आपके विभाग तथा इस जनपद की भी बदनामी होगी। अतः इस तरह के चरित्रहीन तथा जिनकी कर्तव्यनिष्ठा संदिग्ध है उसे सचेत करने के साथ शासकीय कार्याे के प्रति रूचि लेते हुए कार्य करने का निर्देश दिया। उन्होने कहा कि शासन का निर्देश है कि अधिकारी अपने-अपने कार्यालयो में सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक उपिस्थत रहते हुए जनता की समस्याओ को सुनकर उसका निस्तारण करने के पश्चात ही फिल्ड में भ्रमण के लिये निकलेगे। अतिआवयक कार्य होने पर अपने स्थान पर अपने किसी प्रतिस्थानीय अधिकारी को बैठाकर ही जायेगे, जिससे कार्यालय में आने वाले शिकायतकर्ता को किसी प्रकार की समस्याओ का सामना न करन पड़े। बैठक में जिलाधिकारी ने आई जी आर एस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतो के निर्धारित समयांन्तराल में निस्तारण न होने पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए सख्त निर्देश दिये वे आई जी आर एस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतो को निस्तारण निश्चित समयांन्तराल में गुणदोष के आधार पर निस्तारण किया जाये, क्योकि इसकी समीक्षा सीधे मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव के द्वारा की जाती है। उन्होने कहा कि जनता की शिकायतो का उनके गुण दोष के आधार पर उसका बिलकुल निष्पक्ष होकर निस्तारण कराये।
आज के इस बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्ता, जिला विकास अधिकारी भूषण कुमार, परियोजना निदेशक( डीआरडीए) बालगोविन्द, जिला विद्यालय निरीक्षक ओ.पी. आर्य, जिला पूर्ती अधिकारी कुमार निर्मलेंदू, जिला बेसिक शिक्षाधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, सहायक श्रम आयुक्त लईक अहमद तथा समस्त जनपदस्तरीय अधिकारी/कार्यालयाघ्यक्ष उपस्थित थे।।

हमारी खबरें पढ़ने के लिए शुक्रिया. फेसबूक, यूट्यूब पर लाइक और सब्सक्राइब करें. अपनी खबरें भेजने के लिए क्लिक करें और लगातार ख़बरों से अपडेट रहने के लिए प्ले स्टोर से हमारा एप्प जरूर इनस्टॉल करें.

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: