ताजातरीन

लो वोल्टेज के कारण डंस झेल रहा अमौरा पंप कैनाल, रहनुमा हुए मौन,

सेवराई। एक तरफ जहा बारिश न होने से किसान परेशान है तो वही लो वोल्टेज के कारण पम्प कैनाल भी पूरी क्षमता के साथ नही चल पा रहे है जिसके कारण तहसील क्षेत्र के सैकड़ो बिगहा खेत धान की रोपाई कर लिए रुके हुए है। धान की रोपाई करने के लिए किसानों का यह उपयुक्त समय है लेकिन अमोरा पंप कैनाल को लो वोल्टेज मिलने के कारण पंप कैनाल संचालित नहीं हो पा रहा है।जिससे संबंधित क्षेत्र का सिंचाई प्रभावित हो गया है किसानों को पानी ना मिलने से खेत सूख रहे हैं। गोड़सरा गांव निवासी किसान सगीर खान, जलाल खान, रामनाथ यादव, मुन्ना यादव, कमलेश यादव,झिल्लु राम,मैनेजर यादव,राजकुमार यादव,बुधेश यादव,भोलू खान, कल्लू खान, चंदन शर्मा, इबरार खान, अमौरा गांव निवासी किसान शिशु ,पिंकू सिंह,रंजन सिंह,मनोज सिंह,जीतू यादव,धनंजय सिंह आदि ने बताया कि अमौरा पंप कैनाल की पुरानी मशीनें को बदलकर नया कर दिया गया है। इसके साथ ही हेड एवं 500 मीटर पक्की नहर एवं बारजा कंप्लीट करते हुए अन्य जरूरी चीजों का मरम्मत हो चुका है। लेकिन लो वोल्टेज की समस्या होने के कारण हमें पानी नही मिल पा रहा है। ज्ञात हो कि क्षेत्रीय किसानों की समस्या को देखते हुए 1969-70 में 20 क्यूसेक क्षमता वाले 6.20 किमी लंबाई का यह पम्प कैनाल बनाया गया था। कभी किसानों के लिए वरदान साबित होने वाला यह पम्प कैनाल बिजली विभाग के मनमानियों के कारण महज शो पीस बनकर रह गया है। किसानों ने बताया कि पंप कैनाल को चलने के लिए कम से कम 440 वोल्ट चाहिए लेकिन मौजूदा स्थिति में पंप कैनाल को महज 320 से 330 तक ही वोल्टेज मिल रहा है। और पंप कैनाल को कम से कम 380 वोल्टेज मिलेगा तो चलाया जा सकता है।लेकिन 380वोल्ट भी नही मिल पा रहा है जिससे पंप कैनाल चलाना मुश्किल है। किसानो ने मांग किया है की अगर दिलदारनगर से इसका फीडर हटा कर सेवराई पावर हाउस या देवल पावर हाउस के फीडर से जोड़ दिया जाय तो यह पम्प कैनाल पूरी क्षमता के साथ चलेगा। संबंधित बिजली विभाग के अधिकारियों को गौड़सरा,अमौरा गांव के किसानो ने इसकी शिकायत बिजली विभाग के अधिकारियों के साथ साथ जनप्रतिनिधियों से भी किया लेकिन नतीजा सिफर रहा।सबसे मजेदार बात तो यह है कि नहर विभाग भी मौखिक और लिखित रूप से भी बिजली विभाग को मामले से अवगत कराया गया बावजूद इसके अभी तक अधिकारी उदासीन बने हुए हैं। जिससे किसानों में आक्रोश व्याप्त है।
पंप कैनाल के जेई हरकेश चौरसिया ने वोल्टेज मीटर नाप कर बताया कि इनपुट 330,340 वोल्ट ही मिल पा रहा है इसलिए मोटर नही चल पा रहा है।इस संबंध में सहायक अभियंता अखिलेश कुमार सिंह ने बताया कि लो वोल्टेज की समस्या को देखते हुए बिजली विभाग से नए फीडर के लिए पत्राचार किया गया है देवल से जो अमौरा के लिए फीडर जाती है उससे पंप कैनाल चलाने के लिए स्वतंत्र फीडर की भी मांग की गई है।लेकिन अभी तक विभाग के तरफ से कोई कारवाई नहीं हुई है। अगर वोल्टेज 370 तक आ रहा है तो मोटर चालू रहता है इससे कम वोल्टेज पर समस्या आ रही है।

हमारी खबरें पढ़ने के लिए शुक्रिया. फेसबूक, यूट्यूब पर लाइक और सब्सक्राइब करें. अपनी खबरें भेजने के लिए क्लिक करें और लगातार ख़बरों से अपडेट रहने के लिए प्ले स्टोर से हमारा एप्प जरूर इनस्टॉल करें.

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: