ताजातरीन

हजरत मालिक मर्दान शाह रहमतुल्लाह का उर्स 16 अप्रैल को धूम धाम से मनाया जायेगा

एकरामूलहक की रिपोर्ट

शादियाबाद। शादियाबाद स्थित मलिक मरदान शाह रहमतुल्लाह अलेह की मजार पर आने वाली 16 अप्रैल को उर्स बड़े धूमधाम से मनाया जाता है हालांकि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के चलते जहां पूरे देश में लॉकडाउन लगाया गया था जिसको देखते हुए 2 साल उर्स पर भी पाबंदी लगाई गई थी 2 साल के बाद फिर सब कुछ सामान स्थिति होने पर 16 अप्रैल का उर्स लगाया जाएगा मलिक मरदान शाह रहमतुल्लाह अलैह के बारे में बताते चलें हजरत मलिक मरदान शाह रहमतुल्ला अलैह लगभग 1000 साल पूर्व शादियाबाद में आए आपकी मां जो हजरत इमाम हुसैन की बेटियों में से थी आपके दो बेटे थे इस मजार के बारे में बताते चलें यहां पर जाति धर्म का कोई भेदभाव नहीं है यहां पर हिंदू मुस्लिम बेहिचक आते हैं बाबा की पूजा अर्चना करते हैं इस मजार की खास बात यह है कि इस मजार में कई खंभे लगे हुए हैं जिनको आज तक किसी के द्वारा नहीं काउंट किया जा सका है हर बार काउंट करने पर कभी 2 खंबे बढ़ते हैं तो कभी 3 खंभे घट जाते हैं जो अपने आप में चमत्कार है हिंदू मुस्लिम एकता की मिसाल 16 अप्रैल के उर्स में दोनों वर्ग के लोग बाबा की आराधना में लीन रहते हैं सभी वर्ग के लोग उर्स में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हैं और मन्नत पूरा होने पर चादरचढ़ाते व खुशी से दान भी देते हैं रोजा कमेटी के सदर असीम जावेद ने बताया कि यहां काफी लंबे अरसे से हमारे और हमारे सदस्य की देखरेख में उर्स लगता रहा है हालांकि वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से 2 साल उर्स नहीं लगाया गया इस साल सामान्य स्थिति होने पर उस लगाया जाएगा उर्स का मैनेजमेंट सदर व सदर के सदस्यों के द्वारा किया जाता है।

हमारी खबरें पढ़ने के लिए शुक्रिया. फेसबूक, यूट्यूब पर लाइक और सब्सक्राइब करें. अपनी खबरें भेजने के लिए क्लिक करें और लगातार ख़बरों से अपडेट रहने के लिए प्ले स्टोर से हमारा एप्प जरूर इनस्टॉल करें.

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: