ताजातरीन

स्व0 भोला सिंह यादव प्रथम विधायक जमानिया की पुण्यतिथि पर कवि सम्मलेन का हुआ आयोजन

Kavi Sammelan organized on the death anniversary of Late Bhola Singh Yadav, first MLA Jamania

नगसर (अजीत सिंह): जमानिया विधानसभा के प्रथम विधायक स्व० भोला सिंह यादव के पुण्यतिथि पर नगसर विकास परिषद द्वारा ग्राम नगसर नेवाजू राय में रविवार की रात कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया।

इसमें जिले के कवियों ने अपने-अपने कविताओं से श्रोताओं को झूमने पर विवश कर दिया। कवि सम्मेलन की शुरुआत मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।

मुख्य अतिथि जगदीश कुशवाहा ने प्रथम विधायक स्व० भोला सिंह यादव के चित्र पर माल्यार्पण किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में कवि सम्मेलन मनोरंजन नहीं बल्कि प्रेरणा और संस्कृति का वाहक है। कवियों काव्य के द्वारा यर्थाथ का दर्शन करता है।

स्व0 भोला सिंह यादव प्रथम विधायक जमानिया की पुण्यतिथि पर कवि सम्मलेन का हुआ आयोजन

कवि उत्तम कुमार चौबे ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत किया। तत्पश्चात कवि सुरेश सौरभ के कविता संग्रह ” स्वत्रंत लेखनी की ललकार सुनो” का विमोचन किया। कवि हेमंत उपाध्याय निर्भीक ने “तिरंगे में लिपट कर देख तेरा लाल आया है, जिसे नालायक कहती थी, वतन के काम आया है।” पर दर्शकों की तालियों से परिसर गुंजायमान हो गया।


यह भी पढ़ें: गाजीपुर की कई स्थानीय मीडिया ने एसपी ओमवीर की गलत फोटो छाप दी, जानिए नये एसपी के बारे में


देश की वर्तमान स्थिति पर कवि आनंद कुशवाहा की कविता “शासन- सत्ता को किसान और व्यापारी ही क्यो चोर नजर आते है, जबकि वे अपनी मेहनत की कमाई खाते है, देश के नेता भ्रष्ट विकाऊ काम चोर होते है, तब भी वे वेतन पेंशन व कमीशन पाते है।”

कवि बुद्ध प्रिय सुरेश सौरभ गाजीपुर का काव्य “निर्धन की बस्तियों में अब वे जाने लगे, लगता है चुनाव आया बरगलाने लगे।” खूब सराही गई।

कवि योगेश त्रिपाठी का व्यंग “दुनिया चलती है कागज पर, हर काम आज का कागज पर।” वही कवि मिथिलेश गहमरी का काव्य “फिर अंधेरों की जद में उजाले मिले। आइने, पत्थरों के हवाले मिले।”

कवि अक्षय पाण्डेय का काव्य “जाल नदी के भीतर है हर पत्थर पर काई, हम न कहें तो कौन कहेगा युग की सच्चाई।” डॉ बदरी विशाल का काव्य “कोई तो बात होती है इन पेड़ो में ए यारों, कोई बुद्ध बनता है कोई न्यूटन बन जाता है।”

स्व0 भोला सिंह यादव प्रथम विधायक जमानिया की पुण्यतिथि पर कवि सम्मलेन का हुआ आयोजन

कवि सुनील सुकुमार का काव्य “जख्मों पे मिर्च डालना बस जिनका है शगल, वो आफताब लाये क्यों जुम्मन के गाँव में।” श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया। भोजपुरी हास्य कवि विनय राय बबुरंग ने श्रोताओं को खूब गुदगुदाया वही कवि अनंत देव पाण्डेय’ अनंत’, हेमन्त उपाध्याय, गोपाल गौरव, दामोदर दबंग की काव्य रचना लोगो को खूब पसंद आयी।


यह भी पढ़ें: जमानिया एसडीएम भारत भार्गव ने सीज किया बालू लदा अवैध ट्रैक्टर-ट्राली


पूर्व ब्लाक प्रमुख अजय यादव व सुनील यादव ने रचनाकारों व अतिथियों को माल्यार्पण व अंगवस्त्र देकर स्वागत किया। अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्कार वंशनारायण सिंह ‘मनज’ व संचालन कुमार प्रवीण ने किया।

उक्त मौके पर विशिष्ठ अतिथि सपा जिलाध्यक्ष रामधारी सिंह यादव, जिला पंचायत सदस्य धर्मेन्द्र यादव पकालू, कैलाश सिंह, सूबेदार सागर सिंह, राम अवतार सिंह, जय कृष्ण सिंह, राहुल यादव, डॉ० सत्यम मणी यादव, डॉ० शौरभ यादव, सुनील यादव, नवीन यादव, अम्बरीष यादव, श्रीराम राय दया राम राय, आबिद अंसारी, सुरेश यादव, जय प्रकाश राम आदि सैकड़ो लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम संयोजक राम सिंह यादव ने आये हुए अतिथियों का आभार व्यक्त किया।

द सर्जिकल न्यूज़ डेस्क

ख़बरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें- thesurgicalnews@gmail.com
Back to top button

Copyright || The Surgical News

%d bloggers like this: