Qries
ताजातरीन

उपजिलाधिकारी सेवराई ने पकड़ें बालू व गिट्टी लदे तीन ट्रक

सेवराई (मारूफ खान): उपजिलाधिकारी सेवराई राजेश प्रसाद चौरसिया को शिकायत मिल रहा था कि पुल पर रोक के बावजूद पुलिस के मिली भगत से बालू व गिट्टी के ओवरलोड वाहनो को जर्जर पुल से आवागमन बेधड़क जारी है।

जिसपर उपजिलाधिकारी राजेश प्रसाद चौरसिया ने नेशनल हाईवे 124 सी के बारा के पास से ओवरलोड बालू व गिट्टी लदा तीन ट्रकों को पकड़कर कार्रवाई करते हुए पकड़े गए ट्रकों को पुलिस की अभिरक्षा में थाना गहमर पर खड़ा कराया है।


यह भी पढ़ें: एसडीएम ने धान क्रय केंद्र का किया औचक निरीक्षण, अनियमितता पर भड़के


तत्पश्चात एआरटीओ व खनीज विभाग को इसकी सूचना दिया गया। एसडीएम की कार्रवाई से बालू व गिट्टी का परिवहन करने वाले लोगों में हड़कंप मच गया है। ओवरलोड गाडियों के संचलान से क्षेत्र की सड़कें भी क्षतिग्रस्त हो रही हैं।

बालू की गाडियां दिन रात्रि सड़कों पर फर्राटा भर रही है। बालू गिट्टी के वाहनों के गुजरने से राजस्व का भी चूना लग रहा है। क्षेत्र में लंबे समय से बिहार प्रदेश से आने वाले अवैध बालू लदे ट्रकों से अवैध कमाई का धंधा चल रहा था।

लंबे समय से शिकायत के बाद अब कार्रवाई होने के बाद से ही संचालकों में हड़कंप है। हालांकि, विभागीय कर्मचारियों को लंबे समय से इस कारोबार की जानकारी थी। मगर मिलीभगत से यह काम चलता रहा है। अब उपजिलाधिकारी की कार्रवाई के बाद से बालू माफ‍िया की पैरवी का क्रम जारी है।


यह भी पढ़ें: देवल में बड़े किसान कर रहे धान विक्रय, पचौरी में खुले में धान


इस संबंध में उपजिलाधिकारी सेवराई राजेश प्रसाद चौरसिया ने बताया कि आगे भी एआरटीओ व खनन विभाग की टीम के साथ अभियान चलाया जाएगा। बालू व गिट्टी लदी तीन ट्रकों को पकड़कर कार्रवाई करते हुए पकड़ी गई ट्रकों को थाना परिसर में खड़ा करा दिया गया।

कुछ दिन पूर्व ही जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने बिहार बॉर्डर का किया था दौरा

जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के आदेश को भी गहमर कोतवाली के बारा पुलिस मानने को तैयार नहीं। नेशनल हाईवे अथॉरिटी के रिपोर्ट पर जिलाधिकारी आर्यका अखौरी ने बारा स्थित कर्मनाशा नदी पर यूपी-बिहार को जोड़ने वाला पुल पर तत्काल प्रभाव से भारी वाहनों के आवागमन पर रोक लगाते हुए हाईट गेज बैरियर लगा दिया था। लेकिन बारा पुलिस के मिली भगत से बैरियर को जेसीबी लगाकर बालू तस्करों ने तोड़ दिया।


यह भी पढ़ें: वसूली करने गए अधिकारियों से गाली-गलौज


समाचार पत्रों में प्रकाशित होने के बाद जिलाधिकारी ने बीते 14 दिसंबर तथा पुलिस अधीक्षक ने 18 दिसंबर को पुल का दौरा किया। पुलिस कर्मियों को किसी भी हालत में भारी वाहनों के आवागमन नहीं होने का आदेश दिया।

बार्डर पर सीसीटीवी कैमरा लगाने को कहा लेकिन गहमर पुलिस के संरक्षण में प्रतिदिन दर्जनों लाल बालू व गिट्टी लदे ट्रक धड़ल्ले से फराटा भर रहे हैं। जिससे पुल का अस्तित्व खतरे में पड़ गया है।

द सर्जिकल न्यूज़ की विडियोज देखने के लिए क्लिक करें 

Qries

द सर्जिकल न्यूज़ डेस्क

ख़बरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें- thesurgicalnews@gmail.com
Back to top button

Copyright || The Surgical News

%d bloggers like this: