अपराधउत्तर प्रदेशगाजीपुरताजातरीन

गला काटकर एक व्यक्ति की निर्मम हत्या,फैली सनसनी

मारूफ खान/ सत्येंद्र सिंह

दिलदारनगर (ग़ाज़ीपुर) थाना क्षेत्र के मुहम्मदपुर गांव में रंजीशन 45 वर्षीय एक व्यक्ति की गला काटकर निर्मम हत्या किए जाने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं मृतक की पत्नी की तहरीर के आधार पर 5 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए कार्रवाई में जुट गई।

सूचना पाकर मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह ने घटनास्थल का जायजा लिया।आसपास के लोगो से घटना के विषय मे पूछताछ की तथा मृतक के गांव आकर परिजनों से भी पूछताछ किया गया।

IPS Ram badan Singh आई पी एस राम बदन सिंह
घटना स्थल पर पहुचकर जानकारी लेते गाजीपुर एसपी रामबदन सिंह

दिलदारनगर थाना क्षेत्र के फूली ग्राम पंचायत अंतर्गत शेरपुर गांव के मुसहर बस्ती के पूरब गेहूं के खेत में जमानिया कोतवाली क्षेत्र के मोहम्मद पुर निवासी बदरे आलम खान 45 वर्ष पुत्र मोहम्मद मोबीन खान की धारदार हथियार से गला काट कर हत्या कर दी गई.

परिवार वालों ने बताया कि बदरे आलम के मोबाइल पर रात करीब 9:00 बजे किसी का फोन आया इसके बाद वह बाइक से घर से निकल गए घंटे बाद घर नहीं पहुंचने पर स्वजन को चिंता सताने लगी।

स्वजन ने पुणे ढूंढने का काफी प्रयास किया लेकिन उनका कहीं अता-पता नहीं चलने पर उन्होंने जमानिया कोतवाली में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई।

मृतक के घर पर इकठ्ठा हुए लोग

इस बीच कुछ युवकों को बुधवार की भोर में शेरपुर से कतार देवी मंदिर जाने वाले मार्ग पर गेहूं के खेत में एक बाइक के पास खून से लथपथ शव दिखाई दिया। लोगो 112 पुलिस को घटना की सूचना दी। इधर शव मिलने की सूचना पाकर बदहवास पर्यंत रोते बिलखते घटनास्थल पर पहुंचे उन्होंने उसकी पहचान बदरे आलम के रूप में की।

प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो बदरे आलम को किसी धारदार हथियार से वार कर निर्मम हत्या की गई है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर कार्रवाई में जुट गई।

ग्रामीणों ने बताया कि मृतक बदरे आलम के चेहरा पीठ वहां पर धारदार हथियार से वार किया गया था। लोगों द्वारा अंदाजा लगाया जा रहा है कि पोखरे के पट्टे की विवाद में बदरे आलम की हत्या की गई है। ब

दरे आलम की पत्नी तमन्ना ने पुलिस को दी गई तहरीर में बताया कि गांव के पूर्व प्रधान पति अब्बास व उनके पुत्र भांजा द्वारा कई बार जान से मारने की धमकी दी गई थी जिसकी शिकायत जमानिया पुलिस व पुलिस अधीक्षक को पत्र देकर अवगत भी कराया गया था अगर पुलिस मामले को गंभीरता से संज्ञान में ली होती तो शायद यह हत्या नहीं होता।

ह्त्या के बाद रोते-बिलखते परिजन

मोहम्मद पुर गांव निवासी बदरे आलम की हत्या के मामले में पुलिस ने उनके मोबाइल को कब्जे में लेकर सर्विलांस के सहारे हत्यारों तक पहुंचने में जुड़ गई है पुलिस जांच में जुटी हुई है कि आखिर रात 9:00 बजे बदरे आलम के मोबाइल पर किसका फोन आया था और वह घर से निकल किस से मिलने जा रहे थे। बुधवार की सुबह फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने घटनास्थल पर पहुंच कर साक्ष्य संकलन किया।

बदरे आलम की हुई निर्मम हत्या के बाद पत्नी तमन्ना की दुनिया उजड़ गई पति की मौत से दुख का पहाड़ टूटा हुआ है इनके तीन बेटे क्रमशः अदनान 15 वर्ष 12,9 वर्ष तथा एक बड़ी लड़की बुशरा 17 है

।बदरे आलम खेती किसानी कर घर गृहस्ती का काम चलाते थे। तीन भाईयो मैं यह सब से बड़े थे जबकि एक भाई बिहार में पुलिस है तो छोटा अफसर खान आर्मी में तैनात है।

हमारी खबरें पढ़ने के लिए शुक्रिया. फेसबूक, यूट्यूब पर लाइक और सब्सक्राइब करें. अपनी खबरें भेजने के लिए क्लिक करें और लगातार ख़बरों से अपडेट रहने के लिए प्ले स्टोर से हमारा एप्प जरूर इनस्टॉल करें.

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: