गाजीपुरताजातरीनपूर्वांचल

जिलाधिकारी ने पंकज राय के पाली हाउस का किया निरिक्षण

  • जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य ने किया पंकज राय के पाली हाउस का निरिक्षण
  • जिलाधिकारी संग मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्ता भी पहुंचे 
  • उपस्थित लोगों को जिलाधिकारी गाजीपुर ने किया मिर्चा, टमाटर, बैगन एवं सहजन के पौधा का वितरण

गाजीपुर (विकास राय): जिलाधिकारी गाजीपुर ओम प्रकाश आर्य व मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्ता ने शनिवार के दिन करीमुद्दीनपुर स्थित पंकज राय के पाली हाउस पर आर्गेनिक तरीके से कि जा रही सब्जियों और धान की खेती का निरीक्षण किया।

उसके बाद जिलाधिकारी गाजीपुर ने पाली हाऊस पर सहजन और आम के पोधे का रोपण किया।आये हुये किसानों को आर्गेनिक तरीके से पाली हाऊस मे तैयार सहजन ,मिर्च,टमाटर और, बैगन के पौधो का बितरण जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी के द्वारा किया गया ।

जिलाधिकारी ने पंकज राय के पाली हौस का किया निरिक्षण

उन्होंने बताया कि किसानों के लिए बहुत ही फायदे का सौदा ऑर्गेनिक खेती है। इस खेती में आम खेती की जगह खर्च काफी कम आता है। इसका कारण यह है कि इसमें न तो पेस्टिसाइड युक्त खाद डालने की जरूरत पड़ती है और न ही इसमें केमिकल या दवाओं का इस्तेमाल होता है। इसमें मात्र देसी खाद का इस्तेमाल होता है जो कि गोबर और देसी गाय के मुत्र और अन्य तरीकों से बनाई जाती है।


यह भी पढ़ें: प्रगतिशील किसान पंकज राय ने की एम एल सी चंचल सिंह से मुलाकात

 


ऑर्गेनिक खेती की बात करें तो यह खेती करीमुद्दीनपुर के निवासी युवा किसान पंकज राय ने अभी तीन से चार एकड़ में शुरुआत किया है। और ऑर्गेनिक खेती मे सब्जियां, फल, उगा कर लाभ भी कमा रहे है।जहाँ लाकडाउन मे सब्जियां कौडी की भाव बिक रही थी वहीं इनके द्वारा आर्गेनिक तरीके से पैदा की हुयी सब्जियाँ सात संमुदर पार तक गयी और अच्छे भाव से बिक गयी।

स्थानीय बाजार मे भी इसकी माँग ज्यादा थी जिससे अच्छा मुनाफा भी हुआ वहीं सेहत के लिये भी यह उपयोगी रही है। वहीं अपने खाने के लिये उनके द्वारा गेहूं और धान की भी फसलें लगायी गयी है जिसमें सौ प्रतिशत ऑर्गेनिक तरीके से खेती हुयी है ।

कुछ इलाकों मे सब्जियों और फलों की खेती कम होने का कारण यह है कि सब्जियों व फलों की बिक्री के लिये कोई बड़ी मार्केट नहीं है। जिसमें किसान जाकर अपनी फसल बेच सकें। यह ही प्रमुख कारण है कि किसान ज्यादातर गेहूं, चावल और गन्ना उगाने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं। गेहूं, चावल की खरीद जल्द हो जाने के कारण किसान इनकी खेती करना ज्यादा फायदेमंद समझते हैं।

वही जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य जोगामुसाहिब भी गये और कृषि के क्षेत्र मे कार्य कर रही शिवांश कृषक उत्पादक संघ का भी निरक्षण कर उसके बारे मे जानकारी लिये। कृषि मंत्री सुर्यप्रताप शाही ने पिछले 21जुन को सिड प्रोसेसिंग युनिट व पाँच हजार कुंतल छमता वाली गोदाम का शिलान्यास किया था।


हमारा न्यूज़ एप्प डाउनलोड करने के लिए    क्लिक करें 


इस युनिट के बन जाने से क्षेत्र के किसानों के दिन बहुरेंगे उन्नत बीज की खेती करके मंहगे दाम पर युनिट को बेच सकते है जिसका प्रसंस्करण और भण्डारण शिवांश एफ.पी.ओ. द्वारा होगा। जिससे सरकार की जो सोच है वह धरती पर दिखाई देगी और किसान की आय दोगुनी होगी ।

इस मौके पर जिला कृषि अधिकारी मृत्युंजय सिंह,उपजिलाधिकारी मुहम्मदाबाद राजेश गुप्ता, बी.डी.ओ. बाराचवर शिवांकित वर्मा, मधुसूदन राय, झुन्ना, डाक्टर शिवचरण गौतम, संजीव राय बबलू, पप्पू शर्मा, रमाकांत यादव, राजीव गुप्ता, सौदागर, सुरेश, राधामोहन, बिरेन्द्र, साधू , राम प्रवेश, अशोक कुमार खोठा, बिजय, डाक्टर रामकुमार राय जोगा आदि लोग उपस्थित थे।

हमारी खबरें पढ़ने के लिए शुक्रिया. फेसबूक, यूट्यूब पर लाइक और सब्सक्राइब करें. अपनी खबरें भेजने के लिए क्लिक करें और लगातार ख़बरों से अपडेट रहने के लिए प्ले स्टोर से हमारा एप्प जरूर इनस्टॉल करें.

द सर्जिकल न्यूज़

ख़बरों व विज्ञापन के लिए संपर्क करें ईमेल thesurgicalnews@gmail.com

Leave a Reply

Back to top button
%d bloggers like this: